× होम भारत राज्य खेल एंटरटेनमेंट लाइफस्टाइल क्राइम विजुअल स्टोरीज टेक ज्ञान धर्म दुनिया
बवासीर के लिए रामबाण है यह मसाला, ऐसे करें इस्तेमाल... दोबारा नहीं होंगे परेशान
हल्दी हमारी रसोई का एक बहुत ही महत्वपूर्ण मसाला है. सेहत के लिए इसके कई फायदे हैं. औषधीय गुणों से भरपूर होने के कारण इसका उपयोग प्राचीन काल से ही किया जाता है.

पाइल्स जिसे हम आम बोलचाल की भाषा में बवासीर कहते हैं. यह एक बहुत ही जटिल समस्या बनती जा रही है. खराब पाचन तंत्र के कारण आज के दौर में हर कोई इससे परेशान है. यह एक ऐसी समस्या है जिसमें उत्सर्जन तंत्र के रास्ते में सूजन आ जाती है. टॉयलेट करने में कठिनाई होती है. कभी-कभी खून भी निकल आता है. यह समस्या इतनी गंभीर हो जाती है कि कई बार लोगों को बेचैनी का सामना करना पड़ता है. उठने-बैठने में दिक्कत होती है. अगर समय रहते इसका इलाज न किया जाए तो कई बार ऑपरेशन की नौबत आ जाती है. ऐसे में हम आपको कुछ घरेलू उपाय बता रहे हैं जो आपको बवासीर की शुरुआती अवस्था में राहत दिला सकते हैं. आइए जानते हैं कैसे करें ठीक...

बवासीर में अपनाएं हल्दी का नुस्खा

हल्दी हमारी रसोई का एक बहुत ही महत्वपूर्ण मसाला है. सेहत के लिए इसके कई फायदे हैं. औषधीय गुणों से भरपूर होने के कारण इसका उपयोग प्राचीन काल से ही कई स्वास्थ्य समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता रहा है. ऐसे में बवासीर में भी हल्दी काफी असरदार मानी जाती है. इसमें मौजूद करक्यूमिन तत्व फायदेमंद होता है. इसके अलावा यह एंटीसेप्टिक, एंटीवायरल, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीकैंसर और एंटीबायोटिक गुणों से भरपूर होता है. इससे बवासीर से होने वाली समस्याओं से राहत मिल सकती है.

हल्दी का उपयोग कैसे करें

  • बवासीर में हल्दी और नारियल के तेल को मिलाकर कर इस्तेमाल कर सकते हैं.  हल्दी में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं. इससे दर्द में भी राहत मिल सकती है. हल्दी और नारियल तेल के मिश्रण को रूई की मदद से बाहरी बवासीर पर लगाएं. इससे राहत मिल सकती है.
  •  हल्दी और प्याज का रस लगाना भी फायदेमंद हो सकता है. एक प्याज को कद्दूकस करके उसका रस निकाल लें. इसमें सरसों का तेल और हल्दी मिलाएं और अब इस पेस्ट को बवासीर वाली जगह पर पेस्ट की तरह लगाएं और 30 मिनट के लिए छोड़ दें.
  •  एलोवेरा जेल और हल्दी लगाने से भी जलन और दर्द में राहत मिलती है. एलोवेरा में एंटी-इंफ्लेमेटरी पाया जाता है, जो जलन को दूर में मदद करता है.
  •  हल्दी में सरसों का तेल मिलाकर प्रभावित जगह पर लगाने से भी रक्तस्राव रोकने में मदद मिल सकती है. सूजन भी कम हो सकती है. दर्द से भी राहत मिल सकती है.

Advertisment
सम्बंधित ख़बरें
Copyright © 2022-23 . Bharat24 All rights reserved